Sunday, 25 February 2018

Tribute to Shridevi.



















आपके जाने से भारतीय सिनेमा को अपूरणीय क्षति हुई है।
 कुछ पंक्तियाँ।

अब नहीं महकेगी चाँदनी कभी,
कौन MR INDIA के लिए बेताब होगा,
आपके जाने से हम सब को लगा है सदमा
एक लम्हे में जिंदगी चली गयी,
ये जुदाई बहुत दुखदायी है।

नमन।
©नीतिश तिवारी।

2 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (26-02-2018) को ) "धारण त्रिशूल कर दुर्गा बन" (चर्चा अंक-2893) पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    श्रद्धांजलि
    सादर...!
    राधा तिवारी


    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (19-02-2018) को <a
    href="http://charchamanch

    ReplyDelete
    Replies
    1. रचना शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।

      Delete