Monday, 9 January 2017

हया वाली अदा।




तेरी हया वाली अदा को सलाम हम करेंगे,
तुम लिखना अपनी दास्तान कलाम हम पढ़ेंगे,
तुम मानो या ना मानो मोहब्बत तो अब हो ही गयी है,
बनकर रह जाएंगे कहानी या नया इतिहास हम लिखेंगे।

©नीतिश तिवारी


No comments:

Post a Comment