Sunday, 10 May 2015

Happy Mother's Day.


जब कभी दिल घबराए,
जब कभी रोना आए,
जब कभी नींद ना आए,
तो माँ ही लोरी सुनाए.
जगत का पालनहार है तू,
सबके दिलों का प्यार है तू,
सारी खुशियाँ तुझसे है आती,
सबको जीना तू सिखाती.

                               ©नीतीश तिवारी


2 comments:

  1. bahut achcha likhte ho nitish bhai :)

    ReplyDelete
  2. आपका शुक्रिया

    ReplyDelete