Wednesday, 1 January 2014

नववर्ष मंगलमय हो.

















आप सभी को मेरे ब्लॉग की पहली वर्षगाँठ और नववर्ष की हार्दिक शुभकामना.
नववर्ष मंगलमय हो.
आज मेरे ब्लॉग को एक साल हो गये हैं.
मेरे सभी दोस्तों और ब्लॉग प्रशंसकों को मेरा शुक्रिया जिन्होने मेरे ब्लॉग को सराहा और अपने प्यार से मुझे अभिभूत किया.
आज इस नववर्ष के अवसर पर पढ़िए मेरी नयी कविता।

बीत गयी वो शाम,
आज नया आगाज़ है,

आँखों में नये सपने हैं,
होठों पे नये नगमें हैं.

धड़कन में एक दस्तूर है,
साँसों में नया सुरूर है,

उम्मीदोँ  की नयी बहार है,
बदल रहा संसार है.

अपनों का एक साथ है ,
गैरों पर भी विश्वास है। 

नए रौशनी की  दरकार  है ,
अँधियारा मिटने को तैयार है। 

कुछ दुआओं पर  भरोसा है ,
एक अमन की आशा है। 

कुछ नया करने का इरादा है ,
यही नये साल से वादा है। 

शुभकामनाओं के साथ 
आपका नीतीश 

2 comments:

  1. बहुत सुन्दर. नव वर्ष की शुभकामनाएँ !!
    नई पोस्ट : नींद क्यों आती नहीं रात भर

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद सर

      Delete