Wednesday, 25 September 2013

Is Narendra Modi is solution of all problems in country?


पिछले दिनो एक खबर आई जिसका पूरे भारत के लोगों के साथ-साथ मुझे भी इंतज़ार था-नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री पद के उम्मेदवारी का.भाजपा ने आगामी चुनाव मे मोदी जी को अपना प्रधानमंत्री के रूप मे प्रॉजेक्ट किया है.निजी  रूप से मैं भी मोदी समर्थक हूँ. जिस तरह से उन्होने पूरे गुजरात का विकास किया है,उससे उनसे पूरे देश के विकास की उम्मीद की जा रही है,और भाजपा के सत्ता मे आने के बाद वो विकास करने मे सफल भी हो जाएँ.

पर क्या वाकई नरेंद्र मोदी सभी समस्याओं का समाधान करने मे सफल रहेंगे?आज पूरा देश विभिन्न प्रकार की समस्याओं से घिरा हुआ है.महगाई से लेकर भ्रस्टाचार तक, ग़रीबी से लेकर बेरोज़गारी तक,हर तरफ देश मे हमे समस्या ही नज़र आती है.क्या कारण है की आज़ादी के इतने वर्ष बाद भी विदेशी भारत मे आकर केवल स्लम्डॉग मिलेनियर जैसी फ़िल्मे बनाने के लिए प्रेरित होते हैं.उन्हे भारत की तरक्की कम और ग़रीबी ज़्यादा नज़र आती हैं,मैं समझता हूँ की इसका सबसे बड़ा कारण है असमानता.हमारे देश मे एक ओर जहाँ ट्रेनो मे wi fi लगाए जा रहे है,वहीं दूसरी ओर आज भी ऐसे क्षेत्र हैं जहाँ लोग ट्रेन देखने तक के लिए तरसते हैं. एक ओर अंबानी जी अपनी पत्नी को गिफ्ट मे जेट विमान देते हैं,तो दूसरी ओर एक ग़रीब के पास चलने के लिए साइकिल तक नही है.एक ओर सरकार फूड सेक्यूरिटी बिल की बात करती है,तो दूसरी ओर स्टेशन पर रखा हज़ारो टन गेहूँ बारिश मे भींगकर सड़ जाता है.और यही असमानता देश की तरक्की मे सबसे बड़ा बाधक है और जिस दिन इस देश की सरकार इस असमानता को काबू कर लेगी,वही देश की सच्ची तरक्की होगी मोदी जी को यही करके दिखना होगा.

वैसे तो हमारे देश मे बहुत सारी problams है लेकिन मैं मुख्यतः तीन चीज़ों पर आपका ध्यान आकर्षित करवाना चाहूँगा.

1.जनसंख्या विस्फोट- निरंतर हो रही जनसंख्या वृधि ने एक साथ कई प्रॉब्लम्स को जन्म दिया है, चाहे वो ग़रीबी हो, भ्रस्टाचार हो, या बेरोज़गारी.
सरकार को जनसंख्या नियन्त्रण के लिए कोई कारगर नीति अपनाने की ज़रूरत है.

2.भ्रस्टाचार-भ्रस्टाचार ने पूरे सिस्टम को किस तरह से खोखला कर दिया है वो हम सब जानते है.बिना पैसे दिए कहीं कोई काम नही होता. उपर से लेकर नीचे तक हर एक विभाग मे घूसखोरी हो रही है क्योंकि सरकार के पास इसे रोकने के लिए कोई कड़ा क़ानून  नही है.

3.आरक्षण-मैं समझता हूँ की आरक्षण के जो नियम संविधान मे बनाए गये थे उसमे बदलाव की ज़रूरत है.एक फॉर्म खरीदने से लेकर नौकरी पाने तक हर जगह आरक्षण है और अब तो प्रमोशन मे भी आरक्षण की बात चल रही है.देश मे सिर्फ़ एक ही ववस्था होनी चाहिए मेरिट की.

आने वाले वर्षों मे अगर सरकार इन तीन समस्याओं पर कारगर नीति बनाने मे कामयाब होती है तो ठीक है वरना फिर से भारत  एक सापों के देश के रूप मे ही जाना जाएगा.यह देखना बहुत ज़रूरी होगा की अगर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनते हैं तो किस तरह से देश मे व्याप्त मूलभूत समस्याओं से देश की जनता को छूटकारा दिलाने मे कामयाब होते हैं.

अंत मे मोदी जी को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बनाए जाने के लिए बधाई देता हूँ और कामना करता हूँ की वो देश के अगले प्रधानमंत्री बनें.

जय भारत जय हिंद.

1 comment:

  1. My country needs meny youth like you
    then only our country will get real freedom
    congrats for these

    ReplyDelete